जब बात हो कॅरियर की तो, चुनो वही जो हो सही

जब बात हो कॅरियर की तो, चुनो वही जो हो सही

अक्सर युवा ऐसे करियर विकल्प की तलाश में रहते हैं, जहां उन्हें एक अच्छे वेतन के साथ सम्मानित नौकरी भी मिल सके। हम आपको बता रहे हैं ऐसे ही कुछ करियर options जो मार्केट मे डिमांड मे है एवं साथ ही पुराने traditional career ऑप्शन से है कुछ हट के …

Career Options In Event Management, Wedding Planning

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक करीब 6000 करोड़ से अधिक की इंडस्ट्री है जहां लगभग 20-30% की सालाना वृद्धि भारत मे हो रही है ओर भारत मे यह वृद्धि ग्लोबल रेट से करीब 10-15% ज्यादा है ।

सामान्यतया छोटे शहरों मे 10-12 हजार के मासिक वेतन एवं बड़े शहरों मे 15-25 हजार के मासिक वेतन से शुरुआत होती है पर यदि आप काम मेहनत ओर creativity के साथ करते है तो 2-3 साल के अंदर ही यह लगभग दोगुनी हो जाती है और खुद का व्यवसाय शुरू करने पर आप एक शादी के सफल आयोजन पर 2 -20 लाख रुपए तक आसानी से कमा सकते है ।

Source : R&D Team Of EduWings and Various Online Platform

Radio Jockey

भागदौड़ भरी जिन्दगी में लोगों की खुश रहने और हंसने-हंसाने की चाहत ने भी करियर की नई संभावनाओं को जन्म दिया है। हालांकि इस क्षेत्र में खुद को स्थापित करने के लिए अन्य क्षेत्रों की तरह कड़ी मेहनत की जरूरत होती है।

खासी चर्चित फिल्म ‘लगे रहो मुन्नाभाई में विद्या बालन ने आरजे का रोल कर अपनी अदा और आवाज से सबका मन मोह लिया था। यदि आपमें भी यह कला है तो रेडियो जॉकी का जॉब आपको बोलने का भरपूर मौका तो देगा ही, साथ में शौक और कॅरियर दोनों साथ चलाने का अवसर भी प्रदान करेगा…

आजकल दर्जनों एफएम चैनलों ने रेडियो जॉकी के कॅरियर को नई ऊंचाइयां दी हैं। इंटरनेट रेडियो, डिजिटल रेडियो, एफएम और वाणिज्यिक रेडियो के साथ कम्युनिटी रेडियो के विस्तार से रेडियो का सुनहरा दौर एक बार फिर लौट आया है। यदि आपमें इससे संबधित प्रशिक्षण और कौशल है, तो आप इस क्षेत्र में सेटिस्फैक्ट्री कॅरियर की नींव रख सक ते हैं। फिल्म ‘लगे रहो मुन्नाभाई में विद्या बालन मजेदार शो प्रेजेंट करती हैं और स्टेशन की स्टार आरजे बन जाती हैं। देखा जाए तो यह दिल के दरवाजे खोलकर जी भरकर बोलने का कॅरियर है। यदि ग्लैमर की चकाचौंध में आप भी शामिल होना चाहते हैं तो बन सकते हैं आरजे यानी रेडियो जॉकी। इन दिनों इस तरह के प्रोफेशनल लोगों की इंडस्ट्री में काफी मांग बढ़ रही है।

रेडियो जॉकी की जॉब सुबह 9 से 5 वाली नहीं होती है। उनको कभी भी प्रोग्राम शो होस्ट करने को कहा जा सकता है। इनके जॉब प्रोफाइल में म्यूजिक सेलेक्शन, स्क्रिप्ट राइंटिग और रेडियो शो प्रजेंट करना शामिल किया जाता है।

Source : R&D Team Of EduWings and Various Online Platform

Professional Anchor

शादी हो या कॉर्पोरेट इवैंट अंचोर की जरूरत लगभग सभी जगह आज अंचोर की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है , पार्ट टाइम एक्सट्रा income चाहने वालों के लिए इससे बेहतर विकल्प शायद ही कुछ ओर हो , शुरुआत के 1-2 shows मे ही आपकी fees recover हो जाती है , अमूमन एक शो का 2 हजार से 20 हजार रुपए तक anchors को आसानी से मिल जाता है ओर भारत के celebrity anchors तो लाखों मे फीस लेते है । तो यदि बोल्न आपका शौक है और लोगों को हसाना गुदगुदाना एवं मनोरंजन करना आपकी चॉइस है तो this is the cup of your tea
Source : R&D Team Of EduWings and Various Online Platform

Digital Marketing

फेसबुक, ट्विटर, instagram एवं whatsapp जैसे कई प्लैटफ़ार्म अब आम जिंदगी की हिस्सा है ओर ऐसे मे कॉर्पोरेट जगत इस मौके को भुनाने मे कोई कसर नहीं छोड़ रहे हिय इसलिए अगले दो साल के भीतर डिजिटल मार्केटिंग क्षेत्र में लाखों रोजगार के अवसर पैदा होने की उम्मीद है। एचआर विशेषज्ञों का कहना है कि कारोबार को बढ़ाने के लिए कंपनियां इंटरनेट व सोशल मीडिया प्लेटफार्म को तेजी से अपना रही हैं। इसके चलते इस क्षेत्र में रोजगार के नए अवसरों का भी सृजन हो रहा है।

विशेषज्ञों का कहना है कि भारत ऑनलाइन विज्ञापन, सोशल मीडिया और वेबसाइट डिजाइन सहित कई अन्य सेवाओं के लिए डिजिटल आउटसोर्सिंग हब के रूप में तेजी से उभर रहा है। मणिपाल ग्लोबल एजूकेशन सर्विसेज के कार्यकारी प्रेसिडेंट वी. शिवरामकृष्णन का कहना है कि कंपनियों और उपभोक्ता दोनों का फोकस डिजिटल मीडियम की तरफ तेजी से हस्तांतरित हो रहा है। जिसे देखते हुए 2016 तक इस क्षेत्र में 1.5 लाख रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे हालांकि, नौकरियों की मांग के अनुरूप कुशल लोगों की उपलब्धता कम है ऐसे मे इस career का चयन समझदार decision हो सकता है क्योंकि छोटे शहरों मे भी 15000-20000 तक का मासिक वेतन आसानी से प्राप्त किया जा सकता है ।

वोन डिजिटल सर्विसेज के संस्थापक एवं सीईओ एल. सुब्रमण्यम का कहना है कि करीब प्रत्येक सिंगल ब्रांड ने डिजिटल मार्केटिंग रणनीति बनाई है और इसे कार्यान्वित करने के लिए वह लोगों की नियुक्तियां करने की जद्दोजहद से गुजर रहे हैं। कैरियरबिल्डर इंडिया के एमडी प्रेमलेस मचामा का कहना है कि डिजिटल मार्केटिंग के लिए कुशल और अनुभवी पेशेवरों की कमी है।

एचआर फर्म रेंडस्टैड इंडिया की सीईओ मूर्ति उप्पालुरी का कहना है कि तकनीक का व्यापक स्तर पर विस्तार हुआ है, जिसके चलते कंपनियों का अपने ग्राहकों और कर्मचारियों से संवाद का तरीका बदल गया है। इसलिए, कंपनियों का नए डिजिटल चैनल में शामिल होने के बढ़ते फोकस के चलते डिजिटल मार्केटिंग पेशवरों की मांग तेजी से बढ़ रही है।

राजॉब इंडिया के सीईओ पल्लव सिन्हा का कहना है कि डिजिटल मार्केटिंग सेवाओं के लिए भारत एक मजबूत आउटसोर्सिंग हब के रूप में उभर रहा है। कई कंपनियां अमेरिका, कनाडा और ब्रिटेन में ग्राहकों से प्रोजेक्ट ले रही हैं। रेंडस्टैड इंडिया के अनुमान के मुताबिक डिजिट मार्केटिंग पेशवरों का शुरुआती वेतन 4.5 से 5.5 लाख रुपये के बीच है।

Source : R&D Team Of EduWings and Various Online Platform

अधिक जानकारी के लिए निःशुल्क हमारे कॅरियर काउन्सलर से संपर्क करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Want to do something different or planning for a career where the market has more demands Eduwings is the right choice for you! We at EduWings offers a huge range of courses to develop your skills or to take your passion to next level. Get Evolved With 5 Year’s Of Excellence With 100’s Of Success Stories Where You Also Get 100% Job / Internship / Employment Or After Course Support.

To get FREE counseling call on 7073099988 or

Fill this form

Leave a comment